What is Bacteria in Hindi - जीवाणु क्या है???


इस लेख में आप जानेंगे जीवाणुओं (Bacteria Information in Hindi) के बारे जैसे जीवाणु क्या है, कितने प्रकार के होते है, जीवाणु किसे कहते है, जीवाणु की खोज किसने की, जीवाणु के फायदे और हानियां (Health Benefits of Bacteria) और जीवाणु का मतलब (Meaning) क्या है Hindi और English में तो चलिए शुरू करते है.

जीवाणु क्या है (What is Bacteria in Hindi):

जीवाणु कलोरोफिल विहीन, प्रोकेरियोटिक सुक्ष्म कोशिकीय जिव है.

जीवाणु की खोज किसने और कब की थी:

इसकी खोज 1683 ई. में होलैंड के एंटोनीवान ल्यूवेनहोक ने की थी ! एहरेनबर्ग (Ehrenberg) ने सन 1829 ई. में इन्हें जीवाणु नाम दिया ! 1843-1910 ई. में रोबर्ट कोच ने कालरा तथा तपेदिक के जीवाणुओं की खोज की तथा रोग का जर्म सिद्धांत बताया ! 1812-1892 ई. लुई पाश्चर ने रेबीज का टिका, दूध के पाश्चुराइजेशन की खोज की?
यह भी पढ़ें:

आक्रति के आधार पर जीवाणु के प्रकार (Type of Bacteria in Hindi):

1. छडाकार या बैसिलस (Bacillus) - यह छडनुमा या बेलनाकार होता है.
2. गोलाकार या कोकस (Cocus) - ये गोलाकार एवं सबसे छोटे जीवाणु होते है.
3. कोमा-आकार (Comma Shaped) या विब्रियो (Vibrio) - अँग्रेजी के चिन्ह कोमा (,) के आकार के होते है.
4. सर्पीलाकार (Spirillum) - ये स्प्रिंग या स्क्रू के आकार के होते है.

जीवाणुओं से लाभ (Benefits of Bacteria in Hindi):

1. डेयरी उधोग में लेक्टोबेसिलस नामक जीवाणु दूध में उपस्थित लेक्टोज शर्करा को लेक्टिक एसिड या दही में बदलते है.
2. मटरकुलिय पादपों की जड़ों में पाए जाने वाले जीवाणु राइजोबियम द्वारा वायुमंडल की नाइट्रोजन को नाइट्रेट योगिकों में बदला जाता है.
3. जीवाणु पत्तियों, गोबर आदि पदार्थों का अपघटन कर उन्हें हुमस में बदल देते है ! हुमस के कारण मर्दा उपजाऊ बनती है.
4. सन, पटसन, जुट से रेशे निकालने में तथा सिरका उधोग में.

अन्य सामान्य ज्ञान संबधित लेख यहाँ से पढ़ें:




This "GK in Hindi" website for sale : shrwanswami@gmail.com