Learn History of Computer in Hindi - कंप्यूटर का इतिहास पढ़ें?

इस लेख में आप कंप्यूटर का इतिहास यानि History of Computer in Hindi पढेंगे जो की कंप्यूटर का या तकीनीकी ज्ञान रखने वालों के लिए महत्वपूर्ण Computer Knowledge है. अभी तक तो कंप्यूटर की History बहुत बड़ी तो नहीं है लेकिन जैसे-जैसे समय गुजरता जा रहा है यह पुरानी भी होती जा रही है. जैसा की आप जानते हो आज आप एक Android या अन्य कोई भी मोबाइल उपयोग में ले रहे हो यह भी कंप्यूटर का ही एक छोटा रूप है. समय के साथ सब कुछ बदल रहा है पहले के समय में कंप्यूटर का आकार एक बड़े कमरे के बराबर हुआ करता था और आज इसका आकार इतना छोटा हो चूका है की यह आपकी जेब तक में सरलता से रखा जा सकता है और इससे आप वो सभी कार्य कर सकते है जो की आप कंप्यूटर से करते हो तो इस लेख में हम आपको Computer की History को विस्तार से बताएँगे की यह कब कैसा था और किस-किस तरह से इसने आपका आकार एक Mobile Phone के रूप में ले लिया तो चलिए बिना समय ख़राब किये शुरू करते है.

History of Computer in Hindi - कंप्यूटर का इतिहास:

कंप्यूटर की शुरुआत कैलकुलेटर से हुई थी इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.
Calculator Ki Khoj Kisne Ki Thi-कैलकुलेटर की खोज किसने की थी?

First Generation (प्रथम पीढ़ी का इतिहास):

दुनिया का सबसे पहला Computer 1942-55 के बीच बनाया गया था इस Generation के Computer's में डायोड वाल्व निर्वात ट्यूब (Vaccum Tube) का इस्तेमाल किया जाता था इसलिए इसका नाम डायोड रखा गया. सबसे पहला Electronic Computer (ENIAC) पहली पीढ़ी का Computer है.
EDSAC UNIVAC (Universal Automatic Computer) यह सबसे पहला ऐसा Electronic Computer था जिसे व्यापार में काम लेने के लिए तैयार किया गया था ! इस Generation में Programming Machine व Assembly Language में की जाती थी ! Machine Language 0 और 1 पर आधारित होती है. कोई भी कंप्यूटर हमारी भाषा को नहीं समझता उसके समझने के लिए जिस भाषा में Program लिखा जाता है उसे Computer Programming Language कहा जाता है जैसे: ENIAC, EDSAC, UNIVAC.

Second Generation (द्रितिये पीढ़ी का इतिहास):

दूसरी पीढ़ी का कंप्यूटर 1955 से 64 बीच बनाया गया इस पीढ़ी के Computer's में मुख्य तार्किक उपकरण Vaccum Tube की जगह पर Transistor का उपयोग किया जाने लगा. अगर आपने High Level Language का नाम सुना हो तो इसका आविष्कार इसी पीढ़ी में हुआ था इसमें निम्न मुख्य है जैसे: FORTRAN, COBOL आदि.

Third Generation (त्रितीय पीढ़ी का इतिहास):

इस पीढ़ी का विकास 1964 से लेकर 75 में हुआ. इस पीढ़ी के Computer's में Electronic Transistor की जगह आई.सी (Integrated Circuit) ने ले लिया और जिन Operating System को आज हम उपयोग में ले रहें वो भी इसमें ही शुरू किये गए. High Level Language में नई भाषाओं जैसे : (PASCAL) और BASIC (Beginners All Purpose Symbolic Instruction Code) का विकास भी इसी पीढ़ी में हुआ और इसी Generation में Mini Computer का विकास हुआ जो आकार में काफी छोटे उदाहरण के तौर पर IBM -360 PDP-8.

Fourth Generation (चतुर्थ पीढ़ी का इतिहास):

इस पीढ़ी का विकास 1975 से 89 के मध्य हुआ और इस पीढ़ी में Large Sale IC (LSI-Large Scale Integration) तथा VLSI (Very Large Scale Integration) का बनान भी संभव हुआ. इस पीढ़ी में एक छोटी से चिप में लाखों Transistor समा गये और कंप्यूटर के आकार में कमी हुई. जिसे आप आज Microprocessor यह वही चिप है. Microprocessor का विकास M.E. Hof ने 1971 में किया था जिस कंप्यूटर में Microprocessor लगा होता था उसे Micro Computer कहा जाने लगा. दुनिया का सबसे पहला Micro Computer जिस कम्पनी ने बनाया उसका नाम MITS था.
इस पीढ़ी में कंप्यूटर के क्षेत्र में और भी बहुत से विकास हुए जिनमे मुख्य है: कंप्यूटर नेटवर्क का विकास जिसमे LAN (Local Area Network) और WAN (Wide Area Network)?
Operation System का विकास भी इसी पीढ़ी में हुआ जैसे : MS-DOS, MS-Windows, Apple-OS और High Level Language प्रोग्रामिंग C Programming का विकास भी इसी पीढ़ी में हुआ.

Fifth Generation (पांचवी पीढ़ी का इतिहास):

इस पीढ़ी का विकास 1989 से अब तक चलता आ रहा है जिसमे ULSI (Ultra Large Scale Integration) के विकास से कंप्यूटर कार्यक्षमता में और अधिक वृद्धि हुआ, Optical Device का विकास हुआ. इस Generation के Computer में खुद से सोचने की क्षमता पैदा की जा रही है. इन्टरनेट का विकास भी इसी पीढ़ी में हुआ.
इस पीढ़ी में कंप्यूटर का आकर बहुत अधिक छोटा हो गया इसलिए इनके आकार के अनुसार ही इनका नाम भी अलग-अलग दे दिया गया जैसे: Desktop, Laptop, Mobile, Super Computer आदि आदि.

Computer History से संबधित अन्य लेख:

Comments

This "GK in Hindi" website for sale : shrwanswami@gmail.com