Learn Type of Computer in Hindi - कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है?

इस लेख में आप पढेंगे कंप्यूटर के प्रकार (Computer Kitane Prakar Ke Hote Hai) Type of Computer in Hindi. इससे पहले हमने कंप्यूटर के इतिहास पर लेखा लिखा था जिसमे हमने कंप्यूटर के विकास के चरणों पर चर्चा की थी यदि आपने वह लेख नहीं पढ़ा तो यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते है.
आकार और कार्य क्षमता के अनुसार कंप्यूटर के बहुत से रूप है पर मुख्य 5 है जिनमें:

1. Super Computer
2. Mainframe Computer
3. Mini Computer
4. Work Station
5. Micro Computer
चलिए अब इनके बारे थोडा विस्तार से जानते है:-
सुपर कंप्यूटर (Super Computer):

जिनकी कार्य करने की क्षमता 500 मेगा फ्लॉप्स से अधिक हो उसे Super Computer कहते है. इसमें 32 से 64 समान्तर परिपथों में कार्य कर रहे Microprocessor की सहायता से सूचनाओं पर एक साथ कार्य किया जाता है?
प्रमुख सुपर कंप्यूटर निम्न है : CRAY K IS, Deep Blue, FLO Solver, PARAM, ANUPAM, COSMOS आदि आदि.
विश्व का पहला सुपर कंप्यूटर CRAY K IS 1979 में बना था वर्तमान में दुनिया का सबसे तेज कंप्यूटर चीन में है जिसका नाम है "तिन्हाये-2"?
मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer):
Super Computer को छोड़कर विशाल आकार वाले सभी कंप्यूटरों को Main Frame कंप्यूटर कहते है. ये सामान्यतया 32 से 64 Bit Microprocessor का प्रयोग करते है.
मिनी कंप्यूटर (Mini Computer):
यह एक औसत दर्जे का बहुतउपभोक्ता कंप्यूटर होता है, जो की Mainframe Computer से कम शक्तिशाली और Micro Computer से अधिक शक्तिशाली होता है ! इसका आविष्कार डिजिटल इक्विपमेंट कारपोरेशन (DEC-Digital Equipment Corporation) द्वारा PDP-1 को बनाकर किया गया.
वर्क स्टेशन (Work Station):
यह एक उच्चस्तरीय सूक्ष्म संगणक है ! इनका उपयोग बैंकों में, रेलवे आरक्षण में, विमान उड्डयन स्थल पर, सरकारी कार्यलय जैसे स्थानों पर किया जाता है.
माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer):
यह एक छोटा अंकीय संगणक है. जिसका CPU Microprocessor के Design पर आधारित होता है ! इसे व्यक्तिगत संगणक के नाम से भी जाना जाता है ! इसका विकास 1970 से प्रारंभ हुआ था ! इसका विकास सर्वप्रथम IBM कम्पनी ने किया उदाहरण के तौर पर - घरों में उपयोग में लिए जाने वाले Computer या Laptop.

कार्य पद्धति के आधार पर कंप्यूटर वर्गीकरण:

1. Analog Computer : एनालॉग शब्द का अर्थ है दो राशियों में अनुरूपता ! एनालॉग कंप्यूटर में किसी भौतिक राशि को Electronic Circuit की सहायता से विधुत संकेतो में परिवर्तित किया जाता है.
2. Digital Computer:
Digital Computer एक ऐसा विधुत गणनात्मक उपकरण है. जो की संख्यात्मक अथवा प्रतिकात्मक जानकारी को निर्दिष्ट गणनात्मक प्रक्रियाओं के अनुरूप बदलता है ! अंकीय कंप्यूटर सभी प्रकार की सूचनाओं को आन्तरिक रूप से संख्यात्मक रूप में दर्शाने के लिए द्रिआधारी अंको (बिट्स) 0 और 1 का इस्तेमाल करता है ! वर्तमान में कंप्यूटर का अभिप्राय अंकीय कंप्यूटर से ही है उदाहरण - सभी आधुनिक कंप्यूटर जैसे पर्सनल कंप्यूटर, नोटबुक कंप्यूटर, पॉकेट कंप्यूटर, पामटॉप कंप्यूटर वर्कस्टेशन कंप्यूटर, मेनफ्रेम कंप्यूटर तथा सुपर कम्पुटर.
3. Hybrid Computer:
Hybrid Computer एक प्रकार का मध्यवर्ती उपकरण है को एक अनुरूप (Analog) Output को मानक अंको (Digit) में परिवर्तित करता है ! इनका इस्तेमाल चिकित्सा क्षेत्र में मुख्य रूप से होता है.
4. Optical Computer:
पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटरों के रूप में इस प्रकार के कंप्यूटर बनाए जा रहे हैं जिनमे एक अवयव को दुसरे से जोड़ने का कार्य Optical Fiber के तारों से किया जाता है तथा इनके गणना करने वाले अवयव प्रकाशीय पद्धति पर बनाए गए है.

तकीनीकी संबधित लेख:

Comments

This "GK in Hindi" website for sale : shrwanswami@gmail.com