RSCIT Full Form - आर.एस.सी.आई.टी का पूरा नाम क्या है?

RSCIT का पूरा नाम (Full Form) है "Rajasthan State Certificateof Information Technology" यह राजस्थान का सबसे लोकप्रिय Certificate है. यह राजस्थान में होने वाली सरकारी नौकरियों के लिए मान्य है. RSCIT वर्ष 2009 में राजस्थान सरकार की RKCL द्वारा प्रारंभ किया गया था अब तक लगभग 10 लाख से भी अधिक Student यह परीक्षा देकर RSCIT का Certificate प्राप्त कर चुके है? अधिक जानकारी के लिए आप आर.एस.सी.आई.टी की मुख्य Website पर जाएँ वहां आपको RSCIT में होने वाले सभी Course और Syllabus मिल जायेंगे?
राज्य में डिजिटल साक्षरता को प्रोत्साहित करना तथा युवाओं में आई टी प्रतिभा कौशल विकसित करने के उद्देश्य से RKCL की स्थापना की गई। राजस्थान नॉलेज कॉरपोरेशन लिमिटेड (RKCL) राज्य सरकार द्वारा एक पब्लिक लिमिटेड कंपनी है जिसको पंजीकरण कंपनीज अधिनियम 1956 के अंतर्गत 25 अप्रैल 2008 को किया गया हैं। RKCL द्वारा पिछले कुछ वर्षों के दौरान आई टी प्रशिक्षण के जरिये राज्य के लगभग 42 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं सहित नागरिकों को लाभान्वित किया जा चुका है।
राज्य के विभिन्न क्षेत्रों के सभी नागरिकों तक पहुंच बनाने हेतु RKCL द्वारा पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप ढांचे (PPP फ़्रेमवर्क) के अंतर्गत लगभग 6900 अधिकृत आईटी ज्ञान केन्द्रों (ITGK) की स्थापना कर इनकी मदद से RKCL ने राज्य के शहरी अर्ध शहरी ग्रामीण तथा जनजातीय ट्राइबल क्षेत्रों तक अपनी सेवाओं की पहुंच कायम की है।
डिजिटल साक्षरता के प्रचार प्रसार प्रौद्योगिकी के समावेश से नागरिकों के जीवन स्तर के उन्नयन डिजिटल ज्ञान आधारित समाज के निर्माण व उसके कार्य क्षमता को बढ़ाने की दिशा में राजस्थान स्टेट सर्टिफिकेट इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी (RS-CIT) कोर्स एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है (RS-CIT) एक बेसिक विस्तृत कंप्यूटर कोर्स है जिसकी आसान रूपरेखा से कंप्यूटर की मूलभूत समझ को विकसित करने में मदद करती है और आवश्यक कौशल सीख कर कंप्यूटर पर कार्य करने का आत्मविश्वास बढ़ाती है।

RS-CIT में प्रवेश लेने से पहले विद्यार्थियों अभिभावकों इन बातों का रखें ध्यान

1. RS-CIT कोर्स में प्रवेश लेते समय छात्र एवं अभिभावकों को आईटी ज्ञान केंद्र का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट उसमें अंकित पता केंद्र कोड की अवश्य जांच कर देनी चाहिए।
2. ज्ञान केंद्र पर बायोमेट्रिक मशीन उपलब्ध है कि नहीं यह सुनिश्चित कर।
3. RS-CIT कोर्स हेतु आवेदन फॉर्म पर अपना नाम ईमेल आईडी मोबाइल नंबर साफ अक्षरों में भरना चाहिए ताकि समय पर हमें आवश्यक सूचनाएं प्राप्त होती रहे।
4. हमारा प्रवेश RS-CIT के कौन से माह बेच में किया जाएगा । इसकी जानकारी केंद्र से हमें पता कर कर ही आवेदन करना चाहिए
5. ज्ञान केंद्र पर प्रवेश के समय निर्धारित फीस भुगतान करने के पश्चात कंप्यूटर जनित रसीद अवश्य प्राप्त कर, रसीद पर प्रिंट नाम, रसीद संख्या, ज्ञान केंद्र का कोड अवश्य जांचना चाहिए।
6. अगर किसी योजना के अंतर्गत अरे सिटी कोर्स में प्रवेश लिया गया है तो ज्ञान केंद्र से योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण केसर तथा अन्य जानकारी आवश्यक रूप से प्राप्त करनी चाहिए।
7. ज्ञान केंद्र द्वारा एडमिशन फॉर्म अपलोड करने के पश्चात नरनल पर्सनल इंफॉर्मेशन रिपोर्ट प्रिंट कर प्राप्त करें तथा अपना विवरण जांच कर LPIR रिपोर्ट पर सिग्नेचर कर पुनः ज्ञान केंद्र को दे ताकि बाद में फॉर्म अपलोड के दौरान गलती न हो।

RS-CIT कोर्स के स्टूडेंट को देनी होती है दो भागों में परीक्षा

RSCIT कंप्यूटर कोर्स की 2 परीक्षा होती है और यह परीक्षा पूरे 100 नंबर की होती है जिसमे से 70 नंबर केवल Writing टेस्ट के मिलते है और पास होने के लिए 28 नंबर की आवश्यकता होती है। उसके बाद 30 नंबर केवल आंतरिक यानि Internal Evaluation के दिए जाते है इसमें पास होने के लिए आपको कम से कम 12 नंबर लाना ज़रुरी है। मतलब RSCIT Computer Course की इस परीक्षा में पास होने के लिए आपको 100 में से 40 अंक लाना अनिवार्य है।

सरकारी नौकरियों में भी कंप्यूटर कोर्स की अनिवार्यता

वर्तमान में राज्य सरकार के द्वारा करीब करीब अधिकांश भर्तियों में कंप्यूटर कोर्स अनिवार्य किया जा चुका है चाहे वह LDC भर्ती हो या पटवार भर्ती, हर सरकारी भर्ती में कंप्यूटर कोर्स के अलग अलग अंक निर्धारित किये हुए।और कुछ भर्तियों में तो कंप्यूटर कोर्स के बिना फॉर्म भी नहीं भरा जा सकता है। ऐसे में राज्य के लाखों युवा एवं नागरिकों ने RS-CIT कोर्स के माध्यम से प्रशिक्षण प्राप्त कर सरकारी नौकरी में अपना भाग्य आजमा रहे हैं।

ज्ञान केंद्रों में हर माह RS- CIT कोर्स के होते हैं एडमिशन

RS-CIT कोर्स में प्रवेश लेने के लिए अपने छात्र छात्राओं सहित शैक्षणिक योग्यता रखने वाले नागरिक गण नजदीक स्थित ज्ञान केंद्र में प्रवेश लेकर प्रतिदिन 2 घंटे की कालांश लेकर 132 घंटों का RS-CIT कोर्स करने के उपरांत बच्चों के एग्जाम कराए जाते हैं।

सरकारी कर्मचारियों को RS-CIT कोर्स कराकर लौटाई पुनर्भरण राशि

राज्य सरकार के द्वारा विभिन्न विभागों में कार्यरत कर्मचारियों को कंप्यूटर  में दक्ष बनाने एवं उनको बेसिक नॉलेज प्रदान करने के  उद्देश्य से RS-CIT का कोर्स कराया गया।  कोर्स करने के पश्चात सरकारी कर्मचारियों को फीस का पुनर्भरण किया गया।

Click योजना से कंप्यूटर सिखकर लाभान्वित हो रहे हैं सरकारी स्कूल के बच्चे

RKCL के द्वारा संचालित ज्ञान केंद्रों के माध्यम से सरकारी स्कूल के बच्चे कंप्यूटर शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं जानकारी के अनुसार सरकारी बच्चों को डिजिटल साक्षरता एवं कंप्यूटर शिक्षा प्रदान करने के लिए उद्देश्य से क्लिक योजना के माध्यम से शिक्षा प्रदान की जा रही है। इसके अंतर्गत सरकारी स्कूल में ज्ञान केंद्र के प्रतिनिधि के माध्यम से कंप्यूटर शिक्षा दी जा रही है।

महिलाओं, बालिकाओं को नि:शुल्क RS-CIT कोर्स प्रशिक्षण

महिला एवं बाल विकास विभाग राज्य सरकार के द्वारा महिलाओं बालिकाओं को नि:शुल्क RS-CIT प्रशिक्षण प्रदान करने हेतु कई वर्षों से नि:शुल्क RS-CIT कोर्स करवाते आ रहे हैं। कांग्रेस सरकार ने हाल ही में इस योजना का नाम प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी महिला प्रशिक्षण व कौशल सर्वर सवर्धन योजना के नाम से बस प्रशिक्षण दिया जाना सुनिश्चित किया गया है। पूर्व में  ज्ञान केंद्रों के माध्यम से  महिला बाल विकास के द्वारा नि:शुल्क बैच सितंबर अक्टूबर में शुरू कर दिए जाते थे लेकिन इस वर्ष समाचार पत्रों में अक्टूबर माह में निः.शुल्क कोर्स की सूचना देने के पश्चात भी अभी तक बच्चों के  फॉर्म नहीं भरे जा सके। नि:शुल्क बेच एडमिशन लेने के लिए अभ्यर्थी के पास शैक्षणिक योग्यता के प्रमाण पत्र ,आयु प्रमाण पत्र, पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ, और कैटेगरी प्रमाण पत्र होना आवश्यक है।

Comments