x-किरणें या x ray क्या है और इसकी खोज किसने की थी?

हेल्लो मित्र क्या आप जानते हैं? x- किरणे या x ray (एक्सरे) क्या होता है और इसकी खोज कब और किसने की थी ! आइये इस पोस्ट की मदद से एक्सरे के बारे में x ray के गुण और इसके उपयोग के बारे सामान्य जानकारी प्राप्त करते हैं?


x किरणें या x ray (एक्सरे) क्या होता है?

जब अधिक उर्जा की केथोड़ किरणें किसी अधिक परमाणु भार वाले पदार्थ से टकराती है, तो कुछ विशेष प्रकार की अद्रश्य किरणें उत्सर्जित होती है, जिन्हें x किरणें या x ray (एक्सरे) कहा जाता है? इन्हें रोइंटजन किरणे भी कहा जाता है ! ये अति लघु तरंग की विधुत चुम्बकीय तरंग है ! जब तेजी से चलने वाले इलेक्ट्रानों को कुछ अवरोधों द्वारा अचानक रोक दिया जाता है तो x किरणें या x ray (एक्सरे) निकलती है.
यह भी पढ़ें:



x किरणें या x ray (एक्सरे) के गुण?

1) x ray (एक्सरे) विधुत चुम्बकीय तरंग होती है?
2) x किरणें जब किसी पदार्थ पर आपतित होती है, तो प्रतिदीप्ति उत्पन्न करती है ! इनमें भेदन क्षमता भी होती है ! शरीर के मांस में से पारगमित हो जाती है, परन्तु हड्डीयों को यह भेद नहीं पाती?
3) ये किरणे निर्वात में प्रकाश के वेग से गति करती है?

x ray (एक्सरे) के उपयोग?

जासूसी विभाग, अभियन्त्रिकी विभाग (भवनों में लोहे के गर्डरों के भीतर उपस्थित दरार, वायु के बुलबुले इत्यादि का पता लगाने में), प्रयोगशाला (अणुओं की रचना के अध्यन में), रेडियोग्राफी (शरीर के भीतर की टूटी हुई हड्डी, पथरी व फेफड़ों के विकार का पता लगाने में), कैंसर चिकित्सा आदि में इसका उपयोग किया जाता है.

अन्य उपयोगी जानकारी: