Full Form of Police in Hindi : Police Kya Hai, Kyu Jaruri Hai

भारत एक लोकतांत्रिक देश है और अगर इस लोकतांत्रिक देश में कोई गड़बड़ होती है या फिर कोई नियमों के साथ खिलवाड़ करता है तो उसे रोकने के लिए कोई ना कोई दल या व्यक्ति तो जरूरी होता है, हम उसे पुलिस के नाम से जानते हैं। एक बार कल्पना करके देखिए अगर पुलिस ना होती तो हर जगह दंगे फसाद चलते रहते और उन्हें कोई नहीं रोकता और ऐसे में कमजोर लोग हमेशा हारते और क्राइम आराम से बढ़ता रहता। आज अगर बड़े बड़े बिजनेसमैन अपने करोड़ों की डील बिना किसी माफिया से डरे कर पाते हैं तो वह पुलिस की वजह से ही मुमकिन हैं। हमारी दिन रात रक्षा करने वाली पुलिस के बारे में आप कितना जानते हैं? क्या आप पुलिस की फुल फॉर्म (Full Form of Police in Hindi) जानते है? नहीं ना, तो आज के इस पोस्ट में हम आपको पुलिस की फुल फॉर्म हिंदी में बताने वाले हैं और उससे जुड़े कुछ अन्य जानकारी भी आपको देंगे।

Full Form of Police in Hindi (पुलिस की फुल फॉर्म क्या है)

वैसे अगर आप इंटरनेट पर सर्च करेंगे तो आपको पुलिस की काफी सारी अलग-अलग फुल फॉर्म देखने को मिल जाएगी और आमतौर पर भी इसे लोग कभी क्या तो कभी क्या समझते हैं। लेकिन सरकार पर आधारित और पुलिस कि सही फुल फॉर्म 'Protection of Life in Civil Establishment' है। इसका हिंदी अर्थ देखा जाए तो वह 'नागरिक प्रतिष्ठान में जीवन की सुरक्षा' है। अगर इसको सरल तरीके से समझा जाए तो इसका मतलब यह होगा कि जो व्यक्ति या जो दल नागरिकों के जीवन की सुरक्षा करता है और उनकी प्रतिष्ठा का ख्याल रखता है वह पुलिस कहलाता है।

What is Police in Hindi (पुलिस क्या है)

जैसा कि मैं आपको पहले ही बता चुका हूं कि पुलिस वह दल या व्यक्ति होता है जो नागरिकों और उनके कर्तव्यों की सुरक्षा करता है। यानी कि अगर इसकी परिभाषा देखी जाए तो वो 'एक ऐसा दल जो कानून व व्यवस्था के साथ जनता की सुरक्षा के लिए प्रशिक्षित और चयनित किया जाता है, वह पुलिस होता है'

Importance of Police in Hindi (पुलिस क्यों महत्वपूर्ण है)

पुलिस का हर क्षेत्र में बहुत ही बड़ा योगदान है। अगर किसी देश में पुलिस ना हो तो उस देश का विकास असंभव है कि बिहार व्यक्ति अपना अधिपत्य चाहता है और ऐसे में विकास होना तो नामुमकिन है। एक जमाना ऐसा हुआ करता था जब जिसकी लाठी और उसकी भैंस की प्रथा चलती थी और उस समय गरीब व्यक्ति को जैसे तो जीने का अधिकार ही नहीं था लेकिन आज समय बदल चुका है और आज गरीब और कमजोर व्यक्ति भी उतना ही अधिकार रखता है जितना कि एक अमीर व्यक्ति रखता है। कानून की नजरों में सभी समान है और इस समानता को बनाए रखने के लिए पुलिस आवश्यक है।
वैसे तो आप सभी लोग जानते हैं कि पुलिस कितनी महत्वपूर्ण है लेकिन फिर भी एक उदाहरण के माध्यम से आपको इसके बारे में बता रहा हु। मान लीजिए आपको नया बिजनेस स्टार्ट करने वाले हैं और उससे पहले ही कुछ गुंडे आकर आप से पैसे मांगने लगते हैं और वह आपसे ताकतवर है तो आपको उन्हें पैसे देने ही पड़ेंगे। लेकिन अगर आप के साथ पुलिस है यानी कि अगर आप पुलिस से संपर्क करते हैं तो यह बात कंफर्म है कि वह आपकी मदद जरूर करेगी और आप इस तरह से अपना बिजनेस स्टार्ट कर पाओगे।
सीधी सी भाषा में पुलिस का महत्व इस तरह समझाया जा सकता है कि अगर पुलिस ना होती तो हर कोई अपनी मनमानी करता और कमजोर व्यक्ति कभी ना जीता जबकि पुलिस के होते हुए सभी समानता से रहते हैं। ऐसा देश व व्यक्ति के विकास के लिए जरूरी है कि उन्हें कंट्रोल में भी रखा जाए। क्योंकि स्वतंत्रता का मतलब नियमों और कानूनों को छोड़कर किसी अन्य को परेशान करना नहीं होता।

इससे संबधित जानकारी यहाँ से पढ़ें:




Comments

  1. Bhut hi achchi jankari share ki hai aapne thank you do much.

    ReplyDelete

Post a Comment